Responsive Ad Slot

Nature

Nature

Love आज कल......(online प्यार) part-1

रविवार, 1 अगस्त 2021

/ by Prem yadav


रॉनी शांत स्वभाव का एक लड़का था। उसके दोस्त कम ही थे। वो पढ़ाई पूरी कर चुका था और नौकरी के तलाश में लगा था। आज कल के लड़कों से एकदम अलग था वो किसी से ना के ही बराबर मतलब रखता था इसी कारण शायद उसके दोस्त नही बन पाए थे। पता नही क्यों लेकिन लड़की से कोषों दूर रहता था।रॉनी के लाइफ में सब कुछ अच्छा ही चल रहा था।
रॉनी एक फैमिली फंक्शन में गया किसी से ज्यादा बात न करके एक कोने में बैठा ही था बहुत सारे लोग आए हुए थे लेकिन फिर भी वो अकेला ही बैठा रहा। वो बैठा कुछ सोच ही रहा था कि उसकी नज़र नीचे बाहर रोड पर खड़ी एक लड़की पर गई वो किसी से बाते कर रही थी चश्मा लगाई हुई पूरी सादगी में मुश्कान ऐसा की मानो अगर वो मुश्कुराये तो बागों में बहार आ जाये मौसम खुमार हो जाये। हवा के कारण बार बार बाल उसके फेस पर आ रहा था जिसे वो बार बार हटा रही थी उस समय ऐसा फील हो रहा था मानो की आसमान अपने ऊपर से बादल हटा रहा हो। बहुत लड़कियो से मिल चुका था रॉनी लेकिन किसी से मिलकर ऐसा फीलिंग नही आया था कुछ तो खास बात थी उस लड़की में। रॉनी तो बस उसे देखता ही रह गया। कुछ देर के बाद वो वहाँ से चली गई रॉनी दौड़ता हुआ नीचे गया ताकि देख पाए कि वो लड़की गई कहाँ जब तक वो नीचे गया वो वहाँ से जा चुकी थी। इतना जल्दी वो किधर चली गई पता ही नही चला इधर उधर जाके देखा भी लेकिन कही नही दिखी। रॉनी अपने किस्मत को कोसता हुआ बापस आ गया लेकिंन रॉनी उस लड़की की वो पहली झलक भूल नही पा रहा था उसी की यादो में डूबा था। रॉनी उसके याद में इतना डूब गया की वो लड़की उसको सामने दिख रही थी वहीं फंक्शन में उसकी ही बहन से बात करती हुई। वो अपने आप को सम्हाला तो देखा सच मे वो लड़की वही पर थी। रॉनी का तो खुशी का कोई ठिकाना नही रहा। अब रॉनी उससे बात करने को सोची लेकिन वो पहले कभी ऐसा नही किया था तो उसको बात करने की हिम्मत नही हुई। पूरी फंक्शन में वो उसे ही देखता रहा लेकिन बात नही कर पाया। एक कोने में बस उससे देख देख के पागलो की तरह मुस्कुरा रहा था। 
फंक्शन खत्म हुआ सारे मेहमान जाने लगे। रॉनी रात भर जगा था जिसके कारण वो लेट तक सोता ही रह गया। जब वो जगा तो उस लड़की का याद आया उसे खोजने के लिए इस कमरे से उस कमरे गया सारा कमरा छान मारा लेकिन वो नही दिखी शायद वो जा चुकी थी। रॉनी उदास हो गया। रॉनी रात को उस लड़की से अपनी बहन को बात करते देखा था। रॉनी सोचा क्यों न बहन से ही पूछ लिया जाए वो कौंन थी। रॉनी किसी तरह से बातो ही बातों में उस लड़की के बारे में पूछा तब पता चला कि वो लड़की उसकी बहन की ही सहेली है दोनो एक साथ ही होस्टल में रहती है और उसका नाम रूही है। रॉनी मन ही मन बहुत खुश हुआ क्योंकि उस लड़की से मिलने और बात करने का मौका मिल सकता था। अब क्या था छोटा छोटा काम के लिए रॉनी अपनी बहन के होस्टल पहुँच जाता था। धीरे धीरे रूही से भी बात होने लगी। रॉनी को रूही से बात करके अलग ही आंनद मिलता था वो चाहता था कि उसी से बात करता रहे। वो मन ही मन रूही से प्यार करने लगा था। रॉनी बहुत बार चाहा कि वो अपने दिल की बात बता दे लेकिन नही बता पा रहा था। 
रॉनी सोचा क्यों न अपने दिल की बात बहन के साथ शेयर किया जाए वो उसे msg किया और अपने दिल की सारी बात बता दी तब रॉनी को पता चला कि वो अपनी बहन से नही बल्कि उसकी सहेली से ही बात कर रहा था। जो बोलना था वो रॉनी बोल चुका था अब जबाब का इंतेज़ार कर रहा था लेकिन उधर से इसका कोई जबाब नही आया। वो offline हो गई। रॉनी सोचा कही वो गुस्सा तो नही हो गई लेकिन अब कर भी क्या सकता था। वो बस इंतेज़ार करने लगा।................



आगे की कहानी अगले पार्ट में....

कोई टिप्पणी नहीं

एक टिप्पणी भेजें

Don't Miss
© | All Rights Reserved
By- Prem Yadav With Pankaj Dhwaz Yadav